Corona virus symptoms and prevention ll कोरोना वायरस के बचाव और लक्षण

नमस्कार मित्रो

 में राजकुमार बघेल और जैसा कि आप जानते हो में एक प्रोफेशनल ट्रैवलर हूं और टैवल से जुडे हुए अपने अनुभव ब्लाग के माध्यम से आप लोगों से सेयर करता हूँ।

लेकिन आज में जो आर्टिकल लिख रहा हूँ वो यात्रा का नहीं है परंतु इससे यात्रा प्रभावित जरूर हुई है में बात कर रहा हूँ कोरोना वाइरस की जिसको कोविड-19 भी कहते हैं। आज इस की वजह से जिंदगी जैसे थम सी गई है। आज ये महामारी सारी दुनियां में बहुत तेजी से फैल रही है ये वाइरस कितना खतरनाक है और कितनी तेजी से फैल रहा है इसके कुछ आंकड़े हैं आप देख सकते हो।

कोरोना वायरस के मामले -

न्यूयॉर्क, अमेरिका
पहले सप्ताह – 2 (संख्या)
दुसरे सप्ताह - 105
तीसरे सप्ताह - 613

फ्रांस
पहले सप्ताह - 12
दुसरे सप्ताह - 191
तीसरे सप्ताह - 653
चौथे सप्ताह - 4499

ईरान
पहले सप्ताह - 2
दुसरे सप्ताह - 43
तीसरे सप्ताह - 245
चौथे सप्ताह - 4747
पांचवे सप्ताह - 12729 

इटली
पहले सप्ताह - 3
दुसरे सप्ताह - 152
तीसरे सप्ताह - 1036
चौथे सप्ताह - 6362
पांचवे सप्ताह - 21157 

स्पेन
पहले सप्ताह - 8
दुसरे सप्ताह - 674
चौथे सप्ताह - 6043 

भारत
पहले सप्ताह - 3
दुसरे सप्ताह - 24
तीसरे सप्ताह - 105

इसमें खतरा कितना है:-
अगले दो सप्ताह सभी देशों के लिए अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि अभी तक इसकी कोई दवाई भी तैयार नहीं हुई है।

यदि हम पर्याप्त सावधानी बरतते हैं और संक्रमण की श्रृंखला को तोड़ते हैं तो हम कोरोना वायरस के प्रकोप का सामना कर सकते हैं, अन्यथा हमारे सामने एक बहुत बड़ी समस्या है विशेष रूप से बुजुर्ग आबादी के लिए।

अब तक सब ठीक ठाक है। कोरोना वायरस को रोकने के लिए भारत ने अपनी लड़ाई में अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है। अब हम स्टेज 3 में हैं, जिसमें वायरस आपसी मेल जोल और सामाजिक समारोहों में फैलता है। यह सबसे महत्वपूर्ण चरण है और पुष्टि किए गए (जाँच में पक्के पाए गए) मामलों की संख्या प्रतिदिन तेजी से बढती है जैसे कि फरवरी के अंतिम सप्ताह और मार्च के दूसरे सप्ताह के बीच इटली में हुआ था। संक्रमित व्यक्तियों की संख्या सीधे 300 से 10,000 तक बढ़ गयी । यदि सभी देश 3 से 4 हफ्तों में इस स्टेज को मैनेज करने में कोताही बरतेगा  तो हम हजारों में नहीं बल्कि लाखों मामलों में संक्रमण देख सकते हैं। यह अगले एक महीने के लिए महत्वपूर्ण है। यही कारण है कि भारत में अधिकांश सभी कार्यक्रम और सार्वजनिक समारोहों को 15 अप्रैल तक बंद कर दिया गया है।
Corona virus symptoms and prevention ll कोरोना वायरस के बचाव और लक्षण
 कोरोना वायरस या कोविड-19 से बचना है तो तो अपनी डाइट को इसी प्रकार से रखें कोई भी बीमारी आपके पास भी नहीं फटकेगी।

सिर्फ इसलिए कि स्कूल बंद हैं  किसी भी यात्रा से बचें। छुट्टियां अगले साल भी आएंगी, इसलिए बच्चों को लेकर कोरोना के साथ अपनी किस्मत न आज़माएं। विवाह समारोह, जन्मदिन की पार्टियाँ आदि इंतजार कर सकते हैं। अपनी किस्मत न आजमाएं और इस बात को दिमाग से निकाल दें कि मुझे कुछ नहीं होगा।भारत की मेडिकल हिस्ट्री में अगले 30 दिन सबसे महत्वपूर्ण होंगे। किसी भी महत्वपूर्ण कार्य के लिए घर में और घर के बाहर पूरी  सावधानी बरतें।


अभी में टेलिविजन पर विश्लेषण देख रहा था, इसमें ये बताया गया कि चीन में हज़ारों शवों को, उनके परिवारों से पूछे बिना कहाँ दफनाया गया, ये केवल सरकार जानती हैं, इटली में किसी भी शव को कोई कंधा देने नहीं आ रहा। वे इंसान जब जिंदा थे तो अकेले हो गये थे और मरे तो लावारिस चलो कोरोना ने इंसान का असली रूप दिखा दिया।
इसी बीच एक विद्वान यूनियन का प्रेरक लेख पढ़ने को मिला जिसमें भारतीयों के सोशल मीडिया के द्वारा किये जा रहे उपयोग को हास्यास्पद बताया है।
उन्होंने लिखा कि जिंदा रहना है तो सीरियस हो जाओ वरना आने वाले दो सप्ताह की कल्पना मुश्किल होगी
देश-दुनियां में कोई मुसीबत भारत के लोगों के मजाक, हंसी ठिठोली का साधन बन जाती है। पूरी दुनियां में कोहराम मचाए कोविड 19 का जितना मजाक भारत में बन रहा उसका आधा मजाक भी पूरी दुनियां के लोग मिलकर नहीं बना पा  रहे हैं क्योंकि चीन, जापान, फ्रांस, इटली, ईरान समेत तमाम देशों ने अपनी आंखों के सामने अपनों की लाशें देखी हैं।

 उनको इसके खतरे का ना सिर्फ अंदाजा हुआ बल्कि उसे भुगता भी है। भारत में अभी सिर्फ तीन लाशें ही सामने आई हैं क्योंकि अभी हम वायरस फैलने के सैकंड स्टेज पर चल रहे हैं। कल्पना करना मुश्किल होगा जिस दिन ये तीसरी स्टेज पर पहुंचेगी। जिन देशोें में ये तीसरे चरण में पहुंचा उससे 100 गुना बुरी हालत भारत की होगी क्योंकि यहां के लोगों को इस वायरस के प्रकोप से बचने के बजाय उसकी मजाक बनाने में वक्त बीतता है। मेरे एक मित्र ने कल मुझसे हाथ मिलाने की कोशिश की। मैंने हाथ जोड़ दिए तो उन्होंने मेरा मजाक बनाने के लिए वे दूसरे व्यक्ति के गले मिल लिए। बोले, देखें मुझे कैसे होता है कोराेना ?

 उनके इस अंदाज ने मुझे भारत में कोरोना के वायरस के तीसरे स्टेज की कल्पना का भयावह दृश्य सामने ला दिया। वजह ये है कि विदेश में सरकार किसी पार्टी की हो लेकिन वो अपनी सरकार के प्रत्येक आदेश का गंभीरता से पालन करते हैं और जो पालन नहीं करते उनके साथ वहां की सेना पालन करवाना जानती है। हमारे देश में हम जाति, धर्म, राज्य, राजनीतिक पार्टी और सेखी बघारने के लिए नियमों को तोड़ने में आनंदित होते हैं। मैं जानता हूं कि भारत सरकार, सभी राज्यों की सरकारें, स्वास्थ्य महकमा इस अंदेशे को भांप चुकी हैं। स्कूल, कॉलेज, ट्रेन, मॉल्, मंदिर सब धीरे-धीरे बंद हो रहे हैं लेकिन कुछ राक्षसी मानसिकता के लोग जो इसे गंभीरता से नहीं समझना चाहते वे खुद भी मरेंगे और दूसरों को खतरे में डालेंगे। मेरा विनम्र आग्रह है कि सरकार जो भी कह रही उसका पालन करें।

 सावधानी कैसे बरतें:-
हाथ साफ करें बार बार, किसी से हाथ ना मिलाएं। एक मीटर की दूरी से बात करें, साथ में खाना ना खाएं, कुछ अंदेशा हो तो चिकित्सक को दिखाएं।
 वरना जिस दिन मजाक बनाने वालों की मां, बाप, पत्नी, बेटा, बेटी या कोई और करीबी इसकी चपेट में आया उस दिन उनकी सारी मजाक धरी रह जाएगी और फिर चुनाव के वक्त् वे सरकार को कोसोंगे कि सरकार ने हमारे परिजन की जान नहीं बचाई या पर्याप्त उपचार नहीं मिला। सरकार अभी इजाज के मामले में कई देशों से आगे हैं लेकिन जिस तरह वहां की जनता से वहां की सरकारों का साथ दिया उस तरह हम भी अपनी केन्द्र और अपनी-अपनी राज्य सरकार के आदेशों का पालन करें, गंभीर हो जाएं वरना आने वाले दो सप्ताह बाद वो नजारा देखने को मिलेगा जिसकी कल्पना नहीं कर पाओगे। पता नहीं कल्पना करने लायक बचोगे भी या नहीं पर अगर सरकार का साथ दिया। सही तरीके से चले। खुद पर और परिवार पर ध्यान दिया तो हमारे डाक्टरों के पास इसक पूरा इलाज है। 20 लोग ठीक करके घर भेज दिए हैं। जो भर्ती है उनमें से ज्यादातर की तबियत में सुधार हो रहा है। मेरा आप सभी से विनम्र निवेदन है कि प्लीज भविष्य को बचाने के लिए वर्तमान में थोड़ी सावधानी बरतें।

सलाम है डाक्टर-नर्सिंग स्टॉफ को
आज पूरे देश की शान हमारे चिकित्सक और नर्सिंग स्टाफ बन चुके हैं। खुद की जान खतरे में डाल कर कई घंटे और कई दिनों तक अपने घर से दूर रहकर आमजनों की जान बचाने में जुटे हैं। उनको सेल्यूट है। हम सब उन चिकित्सकों और नर्सिंग स्टाफ के परिवारों को सांत्वना और भरोसा दें।

जिंदा रहे तो:-
जिंदा रहे तो हथाई भी होगी । वे इस स्थिति को नहीं भांप रहे। मैं इस कल्चर का विरोध नहीं कर रहा पर आग्रह है कि कुछ दिनों के लिए झुंड में न रहें, बैठें तो भी दूरी बनाकर, घरों में रहें ताकि ना आप किसी को वायरस दे सको और ना आप अपने घर में दूसरे से वायरस ला सके।

क्या होगा:-
क्या होगा अगर कुछ दिन ये नहीं करोगे तो 
1. क्या होगा अगर कुछ दिन दोस्तों के साथ बात नहीं कर पाओगे, फोन पर कर लीजिए।
2. क्या होगा अगर कुछ दिन बाजार नहीं जाओगे |
3. क्या होगा अगर अपनी मांगें मनवाने के लिए कुछ दिन धरना-प्रदर्शन विरोध नहीं करोगे जब सब ठीक हो जाए तब कर लेंगे।
4. क्या हो जाएगा अगर कहीं घूमने नहीं जाओगे तो जब सब सामान्य हो जाए तब चले  जाएंगे।
5. क्या होगा अगर दिन में 10 बार हाथ धो लेंगे। 
6. क्या होगा अगर मजाक उड़ाने की बजाय लोगों को जागरुक करने के लिए मैसेज  करेंगे।
7. क्या होगा जो जागरुक मैसेज दूसरों को फॉरवर्ड करते हो उसका खुद भी पालन कर लेंगे।
8. क्या फर्क पड़ता है कि सरकार किसकी है और वे क्या कह रहे हैं, मतलब इतना रखो वो आपके हित के लिए कर रहे हैं।
..
क्योंकि मौत ना जाति, ना धर्म, ना क्षेत्र, ना उम्र, ना राज्य, ना इलाका और ना लिंग और ना सूरत देखकर आती है।
इसलिए मेरी विनम्र अपील, अभी वक्त है। मान  जाइए। मेरी पोस्ट पढ़कर कुतर्क करने की बजाय जितने शब्द अच्छे लगे उसे  पालन कर लीजिए

हमारे सामने क्या है:-
ये ट्विटर थ्रेड (मैसेज श्रंखला) है इटली के लोगों की.. मैं इसे अपने हिंदी भाषी दोस्तों के लिए ट्रांसलेट कर रहा हूँ.. पढ़िए और समझिये कि हमारा और आपका सामना किस से होने वाला है

अगर आप अभी भी अपने दोस्तों के साथ घूम  रहे हैं, होटल जा रहे हैं, पार्टी कर रहे हैं और ऐसे दिखा रहे हैं जैसे ये (कोरोनावायरस) आपके लिए कोई बड़ी मुसीबत नहीं है, तो आप बहुत बड़े भ्रम में हैं.. अपने आप को संभाल लीजिये.. नीचे का सारा मैसेज एक इटालियन लोगों द्वारा पोस्ट किया गया है.. जो कुछ भी उन्होंने जैसा भी लिखा है उसे वैसा ही लिखा जा रहा है:

“सारी दुनिया के लिए सन्देश,, जिन्हें ये पता नहीं है कि उनका सामना किस आपदा से होने वाला है”

जैसा कि मैं समझता हूँ इस वक़्त सारी दुनिया को पता है कि इस वक़्त सारा इटली क्वारंटाइन किया जा चूका है.. यानि उसे पूरी तरह से बंद किया जा चुका है.. ये स्थिति बहुत बुरी है.. मगर उन लोगों के लिए ज़्यादा बुरी है जो ये सोचते हैं कि ये उनके साथ नहीं होगा

हमे पता है कि आप कैसा सोच रहे हैं.. क्यूंकि हम भी पहले ऐसे ही सोच रहे थे..

आईये देखें कि ये सब कैसे शुरू हुआ:-

स्टेज प्रथम (पहला चरण):

आपको पता होता है कि कोरोना वायरस ऐसी कोई चीज़ है.. मगर आपके देश में ये अभी अभी दिखना शुरू हुवा है.. इसलिए आप सोचते हैं कि डरने की कोई बात नहीं हैं.. क्यूंकि ये बस एक तरह का ज़ुकाम है.. और वैसे भी मैं 75+ साल का हूँ  नहीं इसलिए मुझे इस से क्या डरना

फिर प्रथम चरण आगे बढ़ता है:

और आप सोचते हैं कि ये क्या हर कोई पागल  हो रहा है मास्क और टॉयलेट पेपर के लिए.. ऐसा कुछ तो होने वाला है नहीं.. मेरी ज़िन्दगी तो आराम से चलती रहेगी

फिर आता है..

स्टेज द्वितीय (दूसरा चरण):

धीरे धीरे..  देश में मरीजों की संख्या बढ़ने लगती है.. और सरकार एक दो शहरों कि सीमाएं प्रतिबंधित कर देती है.. और आपको ये समझाती है कि डरने की कोई बात नहीं है.. सब कुछ ठीक है (22 फ़रवरी को ऐसा इटली में हुवा था)

द्वितीय चरण यानि दूसरा चरण आगे बढ़ता है:

कुछ लोगों की  मौतें होती हैं.. मगर वो सब बूढ़े लोग होते हैं.. और मीडिया उस पर हाय तौबा मचाता है... हम सोचते हैं कि ये अच्छी बात नहीं है.. लोग अपने दोस्तों यारों से मिलते रहते हैं.. नार्मल ज़िन्दगी चलती रहती है.. और हमे ये लगता है कि हमे कुछ नहीं होगा

त्रित्तीय चरण (तीसरा चरण):

धीरे धीरे संक्रमित लोगों का आंकडा बढ़ने लगता है.. एक दिन में ही दुगने लोग संक्रमित हो जाते हैं.. मौतों का आंकड़ा बढ़ जाता है.. और सरकार चार बड़े इलाक़ों को प्रतिबंधित कर देती है जहाँ से सब से ज्यादा केस हैं (ये 7 मार्च को इटली में होता है).. फिर इटली के पच्चीस 25% लोगों को घरों में बंद कर दिया जाता है

फिर कुछ क्षेत्रों में स्कूल, बार और रेस्टोरेंट बंद कर दिए जाते हैं.. मगर ऑफिस अभी भी खुले हैं.. सरकारी नियमों को मीडिया और अखबार पहले ही प्रकाशित कर देते हैं

स्टेज तृतीय आगे बढ़ता है:

इटली के क़रीब दस हज़ार लोग, जिन्हें दूसरे  इलाक़ों में सरकार ने रोक कर रखा था वो एक ही रात में वहां से निकलकर अपने अपने घर वापस पहुँच जाते हैं.. और इटली के लगभग पिछत्तर प्रतिशत लोग अपने रोज़मर्रा के कामों में व्यस्त रहते हैं

स्टेज तृतीय यानि तीसरा चरण और आगे बढ़ता है:

इटली के लोग अभी भी इस वायरस की आपदा नहीं समझ पा रहे हैं.. हर जगह इटली में लोगों को ये बताया जा रहा है कि थोड़ी थोड़ी देर में अपने हाथ धुलें.. लोग ग्रुप में या भीड़ में न खड़े हों.. टीवी पर हर दस मिनट में ये समझाया जा रहा है.. मगर ये बातें लोगों के दिमाग़ में नहीं बैठ रही हैं

फिर आता है..

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण):

इटली में हर जगह स्कूल और कॉलेज कम से कम  एक महीने के लिए बंद कर दिए गए हैं.. नेशनल हेल्थ इमरजेंसी लगा दी जाती है.. सारे अस्पतालों को ख़ाली करवा के कोरोनावायरस के मरीजों के लिए जगह बना दी जाती है

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) और आगे बढ़ता है:

अब इटली में डॉक्टर और नर्सों की कमी पड़ने लगी है.. अब जितने भी डॉक्टर रिटायर हो चुके हैं उन्हें भी वापस नौकरी पर बुला लिया जाता है.. जिस छात्रों कि डॉक्टरी की पढाई का दूसरा साल हुवा है उन्हें भी नौकरी पर बुला लिया जाता है.. किसी भी डॉक्टर और नर्स के लिए कोई भी शिफ्ट नहीं है.. चौबीस घंटे काम करना है सबको अब.. डॉक्टर और नर्स भी संक्रमित हो रहे हैं अब और  उन लोगों से उनके परिवारों को भी वायरस अपनी चपेट में ले रहा है

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) और आगे बढ़ता है:

अब निमोनिया के बहुत ही ज्यादा मरीज़ बढ़ गए हैं... और बहुत सारे लोगों को ICU की ज़रूरत है और अब ICU में सबके लिए जगह नहीं है.. इटली में अब वो स्थिति आ चुकी है जहाँ डॉक्टर अब सिर्फ़ उन्हीं का इलाज कर रहे हैं जिनके बचने की उम्मीद होती है.. मतलब अब बूढ़े, और अन्य बीमारियों से जूझ रहे लोगों का इलाज डॉक्टर नहीं कर पा रहे हैं क्यूंकि अब डॉक्टर को क्रोना  वायरस  वाले मरीजों को ही बचाना है.. क्यूंकि अब अस्पताल में सभी के लिए जगह नहीं बची है

स्टेज चतुर्थ (चौथा चरण) आगे बढ़ता है:

अब लोग मर रहे हैं क्यूंकि अस्पतालों और ICU में जगह नहीं है.. मेरे एक डॉक्टर दोस्त ने मुझे कॉल कर के बताया कि उसने तीन लोगों को मरने के लिए छोड़ दिया क्यूंकि जगह नहीं थी.. नर्स रो रही हैं क्यूंकि वो मरते हुवे लोगों के लिए कुछ नहीं कर सकती हैं सिवाए उन्हें ऑक्सीजन देने के

मेरे एक दोस्त का रिश्तेदार कल मर गया क्यूंकि उसका इलाज नहीं हो पाया.. अब क्रोना वायरस हर तरफ़ पूरी तरह से फैल चुका है

फिर आता है..

स्टेज पांच (पाँचवाँ चरण):

याद कीजिये उन बेवकूफों को जिन्हें सरकार ने शुरुवात इटली के कुछ राज्यों में रोक के रखा था, क्वारंटाइन किया था मगर वो अपने अपने घर वापस चले आये थे? उन्हीं की वजह से अब सारी इटली को मार्च 9 को क्वारंटाइन कर दिया गया

अब सरकार का एक ही लक्ष्य है कि कैसे इसे ज्यादा से ज्यादा फैलने से रोका जाय

लोगों को अपने काम पर जाने दिया जा रहा है.. ज़रूरी सामान की खरीदारी करने दी जा रही है.. व्यापार सारे खोल के रखे गए हैं.. क्यूंकि अगर ऐसा न किया तो सारी इकॉनमी धराशायी हो जायेगी.. मगर अभी भी आप अपने इलाक़े से बाहर नहीं जा सकते हैं जब तक आपके पास उसके लिए कोई बहुत ज़रूरी वजह न हो

मगर अभी भी एक समस्या बनी हुई है.. क्यूंकि कुछ लोग समझते हैं कि उन्हें कुछ नहीं होगा.. वो अभी भी दोस्तों के साथ बाहर जा रहे हैं... घूम रहे हैं ग्रुप में.. शराब पी रहे हैं और ऐश कर रहे हैं

फिर आता है..

स्टेज छः (छठां चरण):

दो दिन पहले ये घोषणा कर दी गयी कि अब सारे व्यापार, शौपिंग माल, रेस्टोरेंट, बार और हर तरह की दुकाने बंद रहेंगी.. सिर्फ़ सुपर मार्केट और दवाखाने के अलावा.. और अब आप सिर्फ़ तभी अपने इलाके से कहीं बाहर जा सकते हैं अगर आपके पास उसकी कोई बहुत बड़ी वजह है और उसके लिए आपके पास एक सर्टिफिकेट होना चाहिए

उस सर्टिफिकेट में आपके बारे में सारी जानकारी होती है.. जिसमे आपका नाम, पता और आप कहाँ से आ रहे हैं और कहाँ जा रहे हैं ये लिखा होता है

जगह जगह पुलिस के चेक पॉइंट बने हैं जहाँ आपको चेक किया जाता है

इटली में अगर अब आप अपने घर से बाहर अब पकडे जाते हैं तो आपके ऊपर 206 पौंड का जुर्माना लगाया जाता है.. अगर आप बहार निकलते हैं और आप क्रोना वायरस से संक्रमित हैं तो आपको एक से लेकर बारह साल की जेल होगी

क्यूंकि दो हफ्ते पहले मैं आपके ही जैसा सोचता था और मुझे लगता था कि हमे कुछ नहीं होगा.. और ये सब इस वजह से नहीं हो रहा है कि ये वायरस बहुत खतरनाक है.. बल्कि ये सब इस वजह से हो रहा है कि ये वायरस ऐसी परिस्थितियां पैदा कर देता है जिसका सामना करने में हम सक्षम नहीं हैं

ये देख कर बहुत दुःख हो रहा है क्यूंकि कुछ देश ये सोच रहे हैं कि उनको कुछ नहीं होगा.. और वो इसके लिए ज़रूरी बचाव नहीं कर रहे हैं.. जबकि वो समय रहते अगर बचाव कर लें तो बहुत फायदा होगा

इसलिए.. कृपया अगर आप इसको पढ़ रहे हैं तो सजग हो जाईये.. क्यूंकि इसको इग्नोर करने पर इस समस्या का हल नहीं निकलेगा.. अमेरिका जैसे देशों में ऐसे कितने लोग होंगे जो संक्रमित होंगे और उनका पता नहीं चल पाया होगा

सरकार लोगों की मदद कर रही है.. उनके बैंक की किश्त माफ़ करके और लोगों के व्यापार में मदद कर के.. मुझे ये चीज़ परेशान कर रही है कि अगर ये सारे देशों में हो गया तो क्या होगा

इसलिए अगर आप ऐसे इलाक़े में हैं जहाँ आपके आसपास क्रोना वायरस से संक्रमित मरीज़ हैं तो मेरी आप लोगों से यही गुजारिश हैं कि आप अपना बचाव ख़ुद करें और ऐसा व्यवहार मत कीजिये कि आपको कुछ नहीं होगा इसलिए अगर आप रह सकते हैं तो घरों में ही बंद रहिये

 भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 22 मार्च यानी रविवार को जनता द्वारा जनता पर सुबह सात बजे से रात के नौ बजे तक कर्फयु लगाने का आहवान किया है इससे क्या फायदा होने वाला है।


14 घण्टे के जनता कर्फ्यू का क्या परिणाम होगा?

यद्यपि एक स्थान पर कारोना वायरस का जीवनकाल 12 घंटे है और जनता कर्फ्यू 14 घंटे के लिए होगा, इसलिए सार्वजनिक क्षेत्रों के स्थान जहां कारोना फैल सकता था, उन स्थानों पर कोई नही होगा , जिससे श्रृंखला टूट जाएगी।
14 घंटे के बाद हमें जो मिलेगा वह एक सुरक्षित देश होगा।
धन्यवाद

===========================================================
English translation

Hello friends


 I am Rajkumar Baghel and as you know I am a professional traveler and I am seeing you through my experience blog related to travel.


 But the article I am writing today is not about travel but it has definitely affected the journey, I am talking about Corona virus, which is also called Kovid-19.  Today, life has stopped like this because of it.  Today, this pandemic is spreading very fast in the whole world, there are some statistics of how dangerous this virus is and how fast it is spreading.


 Corona virus cases -


 New York, USA

 First week - 2 (number)

 Second week - 105

 Third week - 613


 France

 First week - 12

 Second week - 191

 Third week - 653

 Fourth week - 4499


 Iran

 First week - 2

 Second week - 43

 Third week - 245

 Fourth week - 4747

 Fifth week - 12729


 Italy

 First week - 3

 Second week - 152

 Third week - 1036

 Fourth week - 6362

 Fifth week - 21157


 Spain

 First week - 8

 Second week - 674

 Fourth week - 6043


 India

 First week - 3

 Second week - 24

 Third week - 105


 How much is the danger in this: -

 The next two weeks are extremely important for all countries.  Because no medicine has been prepared so far.


 If we take adequate precautions and break the chain of infection then we can face outbreak of corona virus, otherwise we have a very big problem especially for the elderly population.


 Everything is fine so far  India has done well so far in its fight to stop the corona virus.  We are now in Stage 3, in which the virus spreads to mutual interactions and social gatherings.  This is the most important phase and the number of confirmed (confirmed cases) increases exponentially daily as it did in Italy between the last week of February and the second week of March.  The number of infected persons directly increased from 300 to 10,000.  If all countries spend a lot of time managing this stage in 3 to 4 weeks, then we can see infection not in thousands but in lakhs of cases.  This is important for the next one month.  This is the reason that most of all programs and public functions in India have been closed till 15 April.


 Avoid any travel just because schools are closed.  The holidays will also come next year, so don't try your luck with Corona by having children.  Wedding ceremonies, birthday parties etc. can wait.  Do not try your luck and take it out of your mind that nothing will happen to me. The next 30 days will be the most important in India's medical history.  Take complete care in the house and outside the house for any important work.



 Just watching the analysis on television, it told that thousands of dead bodies were buried in China without asking their families, only the government knows, no bodies are coming to give any shoulder in Italy.  When those humans were alive, they had become lonely and if they died, then the unclaimed Charo Corona showed the true form of humans.

 Meanwhile, a scholarly union's inspiring article was read, in which the use of social media by Indians is ridiculous.

 He wrote that if you want to stay alive then get serious otherwise it will be difficult to imagine the coming two weeks.

 Any trouble in the country and the world becomes a means of mocking, laughing at the people of India.  Half of the mockery of Kovid 19 created in India around the world is not being made fun of by people all over the world, because all the countries including China, Japan, France, Italy, Iran have seen their dead bodies before their eyes.  Huh.


 They not only realized its danger but also paid it.  In India, only three corpses have been exposed because we are currently running on the second stage of spreading the virus.  It will be difficult to imagine the day it will reach the third stage.  The countries in which it reached the third stage will be 100 times worse than India because people here spend time making fun of this virus instead of avoiding the outbreak.  A friend of mine tried to shake hands with me yesterday.  When I folded my hands, they hugged the other person to make fun of me.  Said, see how I feel?


 His style gave me a frightening view of the fantasy of the third stage of the corona virus in India.  The reason is that the government abroad should belong to a party, but they follow every order of their government seriously and those who do not follow, they know how to follow the army there.  In our country we take pleasure in breaking the rules for caste, religion, state, political party and sakhi.  I know that the Government of India, the governments of all the states, the Health Department has realized this trend.  Schools, colleges, trains, malls, temples are all slowly closing down, but some demonic mentality people who do not want to take it seriously will die themselves and endanger others.  My humble request is to follow whatever the government is saying.


 How to take precautions: -

 Clean hands repeatedly, do not shake hands with anyone.  Talk from a distance of one meter, do not eat food together, if there is any doubt, see a doctor.

 Otherwise, on the day the mother, father, wife, son, daughter or some other close friend of the joke makers got caught up in it, then all their jokes will be kept alive and then at the time of elections they will curse the government that the government has not saved the life of our family.  Or did not receive adequate treatment.  The government is ahead of many countries in the matter of Ijaz, but the way the people of the country supported the governments there, in the same way, we should also follow the orders of our central and state governments, get serious or else two weeks to come  After that, you will get to see the scene, which you will not be able to imagine.  I do not know whether you will be imaginable or not, but if you supported the government.  Walk the right way.  Focusing on ourselves and family, our doctors have complete treatment for it.  20 people have been repaired and sent home.  Most of those who are admitted are improving in their health.  I humbly request all of you to please take some care in the present to save the future.


 Salute to the doctor-nursing staff

 Today the pride of the entire country has become our physician and nursing staff.  Having spent many hours and many days away from his home, putting his life in danger, he is busy saving the lives of the common people.  He is Selute.  Let us all console and trust the families of those physicians and nursing staff.


 If alive: -

 If alive, we will also have arms.  They are not realizing this situation.  I am not opposing this culture, but I urge you not to remain in the herd for a few days, even if you sit and stay away, stay in the houses so that neither you can give virus to anyone nor can you bring virus from another in your house.


 what will happen:-

 What if some day you don't do it

 1. What if some days you will not be able to talk with friends, do it on the phone.

 2. What if some day the market will not go?

 3. What will happen if you do not protest for a few days to protest your demands, when everything is done then you will do it.

 4. What will happen if you do not go somewhere to roam, then when everything becomes normal then it will go away.

 5. What if you wash your hands 10 times a day.

 6. What if you message people to make people aware instead of making fun of them.

 7. What will happen if you forward the alert message to others and also follow it yourself.

 8. What difference does the government have and what are they saying, keep it so much that they are doing it for your benefit.

 Because death comes from seeing neither caste, no religion, no region, no age, no state, no locality and no gender and no appearance.

 So my humble appeal, it's time.  Believe it.  Instead of reading my post, you should follow all the words that you like.


 What is in front of us: -

 This is the Twitter thread of the Italian people .. I am translating this to my Hindi speaking friends .. Read and understand who is going to face us and you.


 If you are still hanging out with your friends, going to a hotel, partying and showing as if this (coronavirus) is not a big problem for you, then you are in a big confusion .. yourself  Take care of .. The entire message below has been posted by an Italian people .. Whatever they have written is being written the same way:


 "Message to the whole world, who do not know what disaster they are going to face"


 As I understand, the whole world knows that at this time the whole of Italy has been quarantined .. ie it has been completely closed .. this situation is very bad .. but worse for those people  Are those who think it won't happen to them


 We know how you are thinking .. because we were also thinking like this before ..


 Let's see how it all started: -


 Stage I (First Stage):


 You know that corona virus is such a thing .. but it has just started appearing in your country .. so you think that there is nothing to fear .. because it is just a kind of cold .. more  Anyway i'm not 75+ years old so why fear me


 Then the first step proceeds:


 And you wonder if everyone is going crazy for masks and toilet paper .. Something like this is not going to happen .. My life will continue to go on smoothly.


 Comes again ..


 Stage II (Second Stage):


 Gradually .. the number of patients starts increasing in the country .. and the government restricts the boundaries of one or two cities .. and tells you that there is nothing to fear .. everything is fine (on 22nd February  Was in Italy)


 The second stage is the second step.


 Some people die .. but they are all old people .. and the media is angry at that ... we think this is not a good thing .. people keep on meeting their friends ... normal  Life goes on .. and we feel that nothing will happen to us


 Triassic phase (third stage):


 Gradually, the figure of infected people starts increasing .. Double people get infected in one day .. The number of deaths increases .. And the government restricts four big areas from which there are most cases (these  Takes place in Italy on 7 March) .. Then twenty-five 25% of Italy's people are locked in homes.


 Then schools, bars and restaurants are closed in some areas .. but offices are still open .. Media and newspapers are already published by government regulations.


 Stage III proceeds:


 Nearly ten thousand people of Italy, who were detained by the government in other areas, leave the place in one night and go back to their homes .. And about half of the people of Italy are busy in their daily activities.


 Stage III is the third step.


 The people of Italy are still not able to understand the disaster of this virus .. Everywhere in Italy people are being told to wash their hands once in a while .. People should not stand in groups or crowds .. On TV  It is being explained every ten minutes .. But these things are not sitting in people's minds


 Comes again ..


 Stage IV (Fourth Stage):


 Schools and colleges everywhere in Italy have been closed for at least one month .. National Health Emergency is put in place. All hospitals are made available for patients with empty coronavirus coronaviruses


 Stage IV (fourth stage) progresses further:


 Now there is a shortage of doctors and nurses in Italy .. Now all the doctors who have retired are also called back on the job .. The students who have completed their second year of doctoral studies are also called.  Is .. there is no shift for any doctor and nurse .. everyone has to work twenty four hours now .. doctors and nurses are also getting infected now and their families are also being infected by the virus  Is reeling


 Stage IV (fourth stage) progresses further:


 Now a lot of pneumonia patients have increased ... and a lot of people need ICU and now there is no place for everyone in ICU .. Now the situation has come in Italy where doctors are treating them only  Those who are expected to be saved .. That means the doctors are not able to treat the old, and those suffering from other diseases, because now the doctor has to save the patients with Crohn's virus .. Because now in the hospital  Does not remain in place for all


 Stage IV (fourth stage) proceeds:


 Now people are dying because there is no place in hospitals and ICU .. A doctor friend of mine called me and told me that he left three people to die because there was no place .. Nurses are crying because they are dead people  Can't do anything except give them oxygen


 A relative of a friend of mine died yesterday because he could not be treated .. Now the Crona virus has spread completely everywhere.


 Comes again ..


 Stage Five (Fifth Stage):


 Remember those idiots whom the government had initially quarantined in some states of Italy, quarantined them but they came back to their respective homes?  Due to them, now the whole of Italy was quarantined on March 9.


 Now the only goal of the government is how to prevent it from spreading as much as possible.


 People are being allowed to go to their work .. They are being allowed to shop for important things .. Businesses are kept open and open .. Because if they do not do this then the whole economy will collapse .. but still you  Can not go out of the area unless you have a very important reason for it


 But there is still a problem .. Because some people think that they will not do anything .. They are still going out with friends ... They are walking in groups .. Drinking and Ash  Huh


 Comes again ..


 Stage Six (Sixth Stage):


 It was announced two days ago that now all trade, shopping goods, restaurants, bars and all kind of shops will be closed .. except only super market and dispensary .. And now you can go out of your area only then  If you have a very big reason for this and for that you should have a certificate


 That certificate contains all the information about you .. In which your name, address and where you are coming from and where you are going are written.


 Police check points are made at every place where you are checked.


 If you are caught now outside your home in Italy, then you are fined 206 pounds .. If you go out and you are infected with the Crona virus, then you will be imprisoned for one to twelve years.


 Because two weeks ago I used to think like you and I thought that nothing will happen to us .. And all this is not happening because this virus is very dangerous .. But all this is happening because of  Virus creates situations that we are not able to cope with


 It is very sad to see this because some countries are thinking that they will not do anything .. and they are not doing the necessary rescue for this .. while they can save in time, it will be very beneficial.


 So .. Please be aware if you are reading this .. because Ignoring it will not solve this problem .. How many people will be infected in countries like America and they will not be detected.


 The government is helping the people .. By forgiving their bank installments and helping the business of the people .. What is bothering me is what will happen if it happens in all the countries


 So if you are in an area where there are patients infected with the Krona virus around me, then I request you people to protect themselves and do not behave that nothing will happen, so if you can stay in the houses  Be closed


 The Prime Minister of India, Shri Narendra Modi has called upon the people to impose a curfew from 7 am to 9 pm on 22 March, ie on Sunday, what will be the benefit.



 What will be the result of 14-hour public curfew?


 Although the lifespan of the carona virus is 12 hours at one location and the public curfew will be for 14 hours, there will be none at places in the public areas where carona could spread, causing the chain to break.

 What we get after 14 hours will be a safe country.


 Thank you

Comments

Popular posts from this blog

Top 20 Most Visited Places in Jammu and Kashmir

Best 20 places to visit in Jaipur that you must visit

My first travel-2 queen of hills